आपसी समन्वय से प्रदेश के समुचित विकास के लिए योजनाओं की क्रियान्विति की गति बढ़ायें -मुख्य सचिव

आपसी समन्वय से प्रदेश के समुचित विकास के  लिए योजनाओं की क्रियान्विति की गति बढ़ायें -मुख्य सचिव
  • District : dipr
  • Department :
  • VIP Person :
  • Press Release
  • State News
  • Attached Document :

    LK-30-07-2020-1.docx

Description

आपसी समन्वय से प्रदेश के समुचित विकास के 
लिए योजनाओं की क्रियान्विति की गति बढ़ायें
-मुख्य सचिव


जयपुर, 30 जुलाई। मुख्य सचिव श्री राजीव स्वरूप ने विभिन्न विभागों को आपसी समन्वय से अन्तरविभागीय अड़चनों को दूर कर प्रदेश के समुचित विकास के लिए योजनाओं की क्रियान्विति की गति बढ़ाने के निर्देश दिए। वह गुरुवार को यहां शासन सचिवालय में राज्य स्तरीय विकास एवं समन्वय समिति की संयुक्त बैठक की अध्यक्षता करते हुए अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थे।

मुख्य सचिव श्री राजीव स्वरूप ने राजस्व विभाग को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत भूमिहीन लोगों के आवास बनाने के लिए जमीन आवंटित करने के निर्देश दिए। शिक्षा विभाग को बंद हो चुकी स्कूलों के भवनों को दूसरे विभागों को उपयोग के लिए हस्तांतरित करने के निर्देश दिए। उन्होंने खान विभाग को बजट घोषणा के अनुरूप खनिज ब्लॉक्स बनाकर ई-ऑक्शन शीघ्र कराने के लिए प्रक्रिया की गति बढ़ाने के निर्देश दिए। पेट्रोलियम विभाग को रिफाइनरी क्षेत्र में लगने वाली सहायक इकाइयों को चिह्वित कर रीको को अवगत कराने के निर्देश दिए ताकि उसी अनुसार औद्योगिक क्षेत्र विकसित किया जा सके। उन्होंने उद्योग विभाग को दिसम्बर माह तक वन स्टॉप शॉप को स्थापित कर चालू करने के निर्देश दिए। 

बैठक में खान एवं पेट्रोलियम, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज तथा उद्योग विभाग की योजनाओं एवं गतिविधियों का प्रजेंटेशन दिया गया। खान एवं पेट्रोलियम विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री सुबोध अग्रवाल ने बताया कि लॉक डाउन खुलने के पश्चात् लगभग खनन गतिविधियां चालू हो गई है। इससे गत वर्ष के मुकाबले इस साल जून माह में राजस्व में भी बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि मैन्युफैक्चर्ड सैण्ड (एमसैण्ड) पॉलिसी को केबिनेट की ओर से दिए गए सुझावों के अनुरूप तैयार की जा रही है। उन्होंने बजरी खनन के वैध खनन के लिए की जा रही विधिक प्रक्रिया एवं अवैध बजरी खनन के खिलाफ की जा रही कार्यवाही से अवगत कराया। 

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजेश्वर सिंह ने मनरेगा, एक ग्राम-चार काम, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, नेशनल रूरल लाइवलीहुड मिशन, नेशनल रूरल इकॉनोमिक ट्रांसफोर्मेशन प्रोजेक्ट, बॉर्डर एरिया डवलपमेंट प्रोजेक्ट, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना-वाटरशेड एवं गांवों के मास्टर प्लान सहित अन्य विभागीय गतिविधियों की प्रगति से अवगत कराया। उद्योग विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री नरेशपाल गंगवार ने वन स्टॉप शॉप स्थापना, ब्यूरो ऑफ प्रोमोशन स्ट्रेथनिंग एवं रीस्ट्रक्चरिंग, भिवाड़ी इंडस्टि्रयल डवलपमेंट ऑथोरिटी की स्ट्रेथनिंग सहित औद्योगिक विकास के लिए की जा रही अन्य गतिविधियों की जानकारी दी।

बैठक में वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री निरंजन आर्य, राजस्व विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री आनन्द कुमार, स्कूल शिक्षा विभाग की शासन सचिव श्रीमती मंजू राजपाल, रीको के एमडी श्री एटी पेडणेकर, राजस्थान वित्त निगम के एमडी श्री केसी वर्मा, पंचायती राज विभाग के शासन सचिव श्री सिद्धार्थ महाजन, उद्योग आयुक्त श्रीमती अर्चना सिंह, मनरेगा आयुक्त श्री पीसी किशन सहित अन्य उच्च अधिकारी उपस्थित थे।


Supporting Images

आपसी समन्वय से प्रदेश के समुचित विकास के  लिए योजनाओं की क्रियान्विति की गति बढ़ायें -मुख्य सचिव आपसी समन्वय से प्रदेश के समुचित विकास के  लिए योजनाओं की क्रियान्विति की गति बढ़ायें -मुख्य सचिव